Amazing Benefits of Moringa. # सहजन के अद्भुत लाभ

 Amazing Benefits of Moringa. You will be surprised to hear

सहजन के अद्भुत लाभ जिसे सुनकर हैरान रह जाओगे

बोलचाल की भाषा में मोरिंगा को ड्रम स्टिक भी कहा जाता है। लेकिन उसका वैज्ञानिक नाम मोरिंगा ओलीफेरा है। हिन्दी में इसके और भी बहुत सारे नाम है जैसे के सहजना, सेंजन, मुनगा और सुजना आदि।

          यह पौधा लगभग पूरे भारतवर्ष में पाया जाता है और तो हर मौसम में मिलता है। इसके फलों का प्रयोग खाने के अनेक व्यंजनों में किया जाता है। इसकी पत्तियों को खाने तथा आयुर्वेदिक दवाइयां बनाने के लिए किया जाता है।

सहजन के पौधे में क्या-क्या चीज इस्तेमाल होता है?

What is used in a drumstick plant?

सहजन के फूल, पत्ती, फल, छाल, बीच, जड़, जड़ के छालआदि का उपयोग किया जाता है। सहजन के बीज से तेल भी निकाला जाता है जो आयुर्वेदिक दवा के रूप में प्रयोग किया जाता है।

सहजन में पाए जाने वाले पोषक तत्व:

Nutrients found in drumstick:

सहजन में इतने सारे पोषक तत्व पाए जातें हैं कि यह लगभग 300 से अधिक बिमारियों को छुराने में कारगर है।

1.       इसमें 90 तरह के विटामिन

2.      45 तरह के एंटी ऑक्सीडेंट,

3.      17 प्रकार के एमिनो एसिड और

4.      33 प्रकार के दर्द नाशक औषधि गुण होते हैं

साजन खाने के अद्भुत लाभ:

Amazing benefits of eating saajan:

1.पाचन की समस्याओं को ठीक करता है:

 Fixes digestive problems:

सहजन के कोमल पत्तों को पीसकर सुबह में, खाली पेट, एक प्रति दिन एक ग्लास लेने से पाचन सम्बन्धी सभी तकलीफ समाप्त हो जाता है।

2. गैस्ट्रिक में कारगर है मोरिंगा

Moringa is effective in gastric

अगर आप प्रतिदिन एक गिलास सहजन के कोमल पत्तों को पीस कर जूस बनाकर पीने से गैस नहीं बनता है।

3. भूख बढ़ाने में सहयोगी है सजन

Sajan is helpful in increasing appetite

इसके पत्तों का जूस अगर सेवन किया जाए तो जिन लोगों को भूख नहीं लगाती हैं उनके लिए रामवान है मोरिंगा का पत्ता।

4. दस्त और पेचिस में लाभकारी है मोरिंगा

Moringa is beneficial in diarrhea and dysentery

इसके कोमल पत्तों का रस को नारिअल पानी के साथ मिला कर उसमे थोरा मधु मिला कर पीने से पेचिस और दस्त दोनों ठीक हो जाता है।

5.जोड़ों के दर्द में लाभकारी है मोरिंगा

Moringa is beneficial in joint pain

जिन लोगों को जोड़ो में दर्द है उनको सजन के पत्तों को छांव में सुखाकर पीस लें और पाउडर बनाकर सीसे के बोतल में रख लें और रोज़ एक गिलास गुनगुने पानी के साथ इसका सेवन करे जोड़ों का दर्द ठीक रहता है।

अगर यह लोग इतना कुछ नहीं कर पाते हैं उनके लिए एक दूसरा विकल्प है कि वह ऑनलाइन मोरिंगा पाउडर मंगवा कर इस्तेमाल कर सकतें हैं।

6. सर दर्द में लाभ पहुँचाता है

Benificial in Headache

अगर किसी वज़ह से आपको सर में तेज दर्द है तो आप सजन के पत्तों को पीसकर लेप बना लें और उसको थोड़ा गर्म करके माथे पर लगाएँ, आप के माथे का दर्द जल्द ही ठीक हो जायेगा।

7. मोटापा को कम करती है मोरिंगा

Moringa reduces obesity

मोरिंगा में फास्फोरस की मात्रा अधिक पाई जाती है जिसके कारण जिसके कारण अतिरिक्त कैलोरी नष्ट हो जाता है और पेट कि चर्बी भी कम होती है।

8.  हड्डी मज़बूत बनाता है सजन का फल

strengthen Bones 

सहजन के फल में कैल्शियम के भरपूर मात्रा पाई जाती है जिसके कारण हड्डी मज़बूत हो जाती है। बुजुर्गों को इसका सेवन ज़रूर करनी चाहिए क्योकि उम्र के साथ शरीर कि हड्डियाँ कमजोर होती रहतीं है।

बुजुर्गों के लिए मोरिंगा फ़ूड-सुप्प्लिमेंट डॉक्टरों के द्वारा सुझाया जाता है। अमेज़न पर मोरिंगा के ढेरों प्रोडक्ट मौजूत हैं। आप उसका प्रयोग कर सकतें हैं।

9.इम्युनिटी बूस्ट करता है सहजन

Immunity boosts drumstick

सहजन में बिटामिन-C कि अधिक मात्रा पाई जाती है जो आपले इम्युनिटी बूस्ट करने में मदद कराती है।

10.दमा या अस्थमा में ( In asthma )

अस्थमा के मरीजों के लिए काफ़ी लाभदायक है मोरिंगा। रोज़ एक चम्मच मोरिंगा पाउडर लेने से अस्थमा में राहत मिलाता है।


इन्हें भी पढ़ें :

व्रत कैसे टूट जाता है?

इन नौ औषधियों में विराजती है नवदुर्गा



Previous
Next Post »