home-remedies-for-sinus-decongestants : साइनस का घरेलू उपचार

 साइनस का घरेलू उपचार

Home Remedies For Sinus - Decongestants

हर कोई किसी न किसी समय बंद नाक की समस्या से गुजरता है, खासकर ठंढ के मौसम में, ज्यादातर लोग ठंड और बंद नाक से परेशान रहतें हैं। साइनस में नाक बंद होने के कारण लोगों को काफी तकलीफों का सामना करना परता है

                  सर्दी के मौसम में ठंढ के कारण होने वाले संक्रमण सामान्य सर्दीयों  के साथ-साथ मौसमी एलर्जी के कारण, आपकी नाक के श्लेष्मा झिल्ली में सूजन आ जाती है। 

          शरीर के दोषपूर्ण प्राकृतिक सुरक्षा के कारण, बलगम के बनने की प्रक्रिया तेज हो जाती है और वह  बाहर निकलने लगती है। श्लेष्म झिल्ली में सूजन के कारण बलगम निकलना चाहता तो है ,लेकिन नाक के अवरोध के कारण बाहर नहीं निकलता है। और एक प्रकार का दबाव बनता है। जो काफी तकलीफ देह होता है 

साइनस  के घरेलू उपचार :-

साइनस में बंद नाक के दबाव आप के लिए दर्दनाक और असुविधाजनक हो सकता है और यह आपके दैनिक जीवन पर एक पीड़ादायक प्रभाव डाल सकता है।

               जबकि decongestants और दर्द निवारक दवाएँ आपको तत्काल आराम तो दे सकता है लेकिन इसके कारण आपको अनेक अवांछित दुष्प्रभावों को आप निमंत्रण दे सकतें हैं।

             अगर आपके पास आसान-सा घरेलु मौजूद हो तो भला क्यों दर्दनाशक दवाओं के कारण होने वाले अवांछित दुष्प्रभावों का सामना किया जाए।

            कुछ सामान्य रूप से आपके आस-पास या घरों में उपलब्ध सामग्री और आसान उपचार के तकनीकों का उपयोग करके वैकल्पिक घरेलू उपचार द्वारा आसानी से इलाज़ किया जा सकता है।

          आप इन तरीकों का उपयोग नाक बंद होने के सुरुआती दौर में ही शुरू करें तो ज़्यादा अच्छा है। क्योकि आप जब सावधानी वर्तेंगें तो परिणाम स्वरुप आपका तकलीफ नहीं बढेगा और आप आराम महसूस करेंगें।

1. स्टीम इनहेलेशन करें

ठंढ के मौसम में हवा शुष्क रहता है और शुष्क हवा साइनस के बंद नाक को बढ़ा सकता है और उसके कारण सर दर्द या दांत भी हो सकता है। साइनस को मॉइश्चराइज रखने में स्टीम इनहेलेशन को बेहद फायदेमंद माना जाता है।

            भाप आपके साइनस मार्ग को नम करने में मदद करता है और बलगम पिघला कर बाहर निकालता है जो समय के साथ पक कर गाढ़ा हो सकता है।

           आप या तो सादे पानी का उपयोग कर सकते हैं या विक्स को सादे पानी में डाल कर भाफ ले सकतें हैं। या किसी अनुभवी वैध के सलाह से किसी जड़ी-बूटियों या आवश्यक तेलों के साथ भाप का उपयोग कर सकते हैं।

कैसे भाप लें?

एक पैन को सादा पानी से भर ले और इसे उबाल आने तक गर्म करें और फिर किसी तौलिये की सहायता से अपने सर को ढकते हुए पैन पर झुक जाएँ और भाप की गर्मी बंद कर के भाप के अपने अन्दर की ओर जोड़ से साँस लें और छोड़ें। 

        इस क्रिया को 5 से 10 मिनट के लिए करें। कुछ दिनों तक रोजाना ऐसा करने से आपके बंद नाक खुल जायेंगें और आप अच्छा महसूस करने लगेंगें।

सावधानी:

छोटे बच्चों को,गर्भवती महिलाओं को और उच्च रक्तचाप से पीड़ित लोगों के लिए स्टीम इनहेलेशन करना खतरनाक हो सकता है।

2. नीलगिरी का तेल उपयोग करें:

नीलगिरी का तेल साइनसाइटिस के लिए एक प्रभावी और सुरक्षित उपचार के रूप में आज कल प्रयोग हो रहा है। 

          मुख्य रूप से इस तेल में एक प्रमुख घटक के पाए जाने कारण नीलगिरी का तेल साइनस के कारण बंद नाक की तकलीफ को दूर करने में मदद कर सकता है।

          यह नीलगिरी का तेल नाक के अन्दुरुनी भाग के लिए एक प्रकार का प्राकृतिक टॉनिक है, जो आपको साइनस के दबाव से छुटकारा दिलाने में आपको मदद करता है।

बंद नाक के लिए कैसे करें नीलगिरी तेल का इस्तेमाल?

गर्म पानी में नीलगिरी के आवश्यक तेल की कुछ बूंदें डालें और तौलिये के सहारे सर को ढक कर भाप लें। पूरी राहत मिलने तक इस प्रक्रिया को बार-बार दोहराएँ।

इसके अलावा, नीलगिरी के तेल को नाक के उपरी हिस्से पर मालिस करें।

3. गर्म कपड़े से सेंकाई करना

साइनस से पीड़ित व्यक्तियों को वाष्प से गर्म किये गए कपड़े के सहारे सेंकाई करने से बंद नाक की समस्या को दूर करने में मदद मिल सकती है। यह एक बहुत ही आसान-सा तरीक़ा है जिसको अजमाना बहुत ही सरल है।

इस प्रक्रिया में वाष्प की गर्मी बंद नाक से आराम प्रदान करती है और नासिका में सूजन को राहत देने में मदद करती है।

कैसे करें नाकों की सेंकाई?

एक बर्तन में पानी को उबलने दें और उसके ऊपर रुमाल या कोई कपड़ा रखें, कपड़ा जब गर्म हो जाये तो नाक और उसके आस-पास सेंकाई करें। इस क्रिया को 3 से 5 मिनट तक करें। जब तक सभी बलगम साफ़ नहीं हो जाते तब तक जितनी बार आवश्यक हो दोहराएँ।

आप चेहरे के दर्द को कम करने के लिए अपनी नाक, गाल और आंखों के आसपास गर्म, नम कपड़े या रुमाल से सेंक सकते हैं।

4.मालिश चिकित्सा

साइनस दबाव को या बंद नाक को खोलने के लिए, नाक के नासिका की मालिश करना एक सरल लेकिन अत्यधिक प्रभावी उपाय है।

        मालिश रक्त-परिसंचरण को बेहतर बनाता है, बलगम को बाहर निकालने में मदद करता है और साइनस से बचाव करने के लिए सुविधाजनक स्थिति बनाता है। 

         यह शायद साइनस से बंद नाक को जल्दी से राहत पाने के सबसे आसान तरीकों में से एक है। 

          थोड़े से जैतून के तेल को गर्म करें और उसमें पेपरमिंट तेल की कुछ बूँदें मिला लें। और अपनी नाक पर तेल से मालिस करें। 

         अपने बाएँ अंगूठे और तर्जनी का उपयोग करते हुए, अपने दोनों नासिकाओं पर मालिस करें। इस क्रिया को 1 मिनटके अंतराल पर कुछ समय तक दोहराएँ। ऐसा रोजाना कई बार करें।


Previous
Next Post »