हमे पालथी मारकर क्यो खाना चाहिए । Why should we eat cross-legged?

 हमे पालथी मारकर क्यो खाना चाहिए । 

Why should we eat cross-legged?

अगर आपको लगता है की डाइनिंग टेबल  पर टीवी  के सामने बैठ कर खाना एक आरामदायक स्थिति है तो आप गलत हैं , भारत मे जमीन पर बैठ कर पालथी मार कर  खाने की परंपरा है। लेकिन आज हम भारतीय, अपनी पुरातन और विशाल संस्कृति को भूलते जा रहे हैं और पश्चिमी सभ्यता की ओर बढ़ रहे हैं । लेकिन क्या आपको नहीं लगता है की ये गलत है । ये कैसे गलत है आज मैआपको बतलाता हूँ । 

1) पाचन क्रिया को मजबूत करता है -

जब हम जमीन पर बैठ कर , पालथी मर कर खाना खाते हैं तो खाने के लिए थोड़ा आगे की तरफ झुकते हैं और यह प्रक्रिया हर कौर मे करना होता है । बार -बार आगे और पीछे होने की प्रक्रिया से पेट की मांसपेशियाँ अधिक एक्टिव हो जाती है । और यह पाचन क्रिया को मजबूत करता है। 

2) रक्त संचार को बढ़ता है - 

पालथी मार कर बैठना, एक प्रकार का आसन है । इस आसन मे बैठने से शरीर मे रक्त-संचार समान रूप में होता है और तंत्रिका तंत्र शांत रहता है । जिसके कारण इस स्थिति मे बैठने से आदमी का मन शांत हो जाता है और  हृदय पर कम दवाव पड़ता है। 

3) जोड़ों और मांसपेशी के दर्द से बचाता है ।-

सुखासन मे बैठकर खाने से पीठ,कमर और जोड़ों के दर्द से भी बचाव होता है। सुखासन मे बैठने से पैर तथा रीढ़ की हड्डियों मे लचिलापन बना रहता है । 

4) मन और शरीर को आराम देता है -

सुखासन ध्यान करने के लिए भी एक आदर्श आसन माना जाता है। इस आसन मे बैठने से मन का तनाव भी दूर हो जाता है ।  इस कारण से सुखासन मे बैठ कर खाना अच्छा माना गया है। 


इन्हे भी पढ़ें :- 

अगर बालों का झड़ना रोकना है तो यह करो 

                                                      कैसे बढ़ाएँ अंदर से इममुनिटी
                   

            
 
                           

Previous
Next Post »