बुखार मे हमारा शरीर गर्म क्यों हो जाता है : Why does our body get hot in fever

 बुखार मे हमारा शरीर गर्म क्यों हो जाता है : 

Why does our body get hot in fever

           

 हमारे शरीर का तापमान 97-98 डिग्री फारेन हाइट पर साधारण तौर पर स्थिर रहता है । शरीर का इतना तापमान उसके जैविक और रासायनिक प्रक्रिया के लिए आवश्यक होता है । लेकिन जब आपको फ़ीवर होता है तो आपके शरीर का तापमान एकदम से बढ्ने लगता है , आपने कभी सोंचा है आखिर ऐसा क्यों होता है। 

           कभी मौसम के प्रभाव से तो बाहरी खान-पान या संक्रमित व्यक्ति के संपर्क  के कारण बैक्टीरिया या वाइरस हमारे शरीर मे प्रवेश करते हैं या शरीर के अंदर ही उत्पन्न हो जाते है और हमारे शरीर को प्रभावित करते है । 

          ये जो बाहरी पार्टीक्ल हमारे शरीर मे प्रवेश करके हमे बीमार करते है उहने Pathogens कहते है जिसको हिन्दी मे रोग-जनक कहते हैं । जब से रोग जनक बाहरी पार्टीक्ल हमारे शरीर मे पवेश करते हैं तब हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक प्रणाली उनका प्रतिरोध करना शुरू करती है और उन दोनों मे एक प्रकार का युद्ध शुरू हो जाता है। 

         और जब ये बाहरी पार्टीक्ल स्वेत रक्त कोशिकायों मे प्रवेश करते हैं तो  स्वेत रक्त कोशिकाओं के द्वारा  पाइरोजेन नमक पदार्थ का श्राव होने लगता है जो शरीर का तापमान बढ़ाना शुरू कर देता है जो संक्रामण पैदा करने वाले जीवाणु , वाइरस और विषाणु के लिए अनुकूल वातावरण नहीं होता है । और शरीर का तापमान ताबतक कम नहीं होता जबतक की ये वाइरस या वैकटेरिया मर नहीं जाते । 

Previous
Next Post »